बाल अधिकारों एवं बाल श्रम पर समुदाय के साथ प्रशिक्षण सम्पन्न

Spread the love

मुज़फ्फरनगर जिले के बघरा विकास खण्ड सभागार में एक्शन ऐड इंडिया संस्था की स्टार परियोजना के अंतर्गत एक दिवसीय प्रशिक्षण का आयोजन किया गया।

प्रशिक्षण में मुख्य अतिथि के रूप में खण्ड विकास अधिकारी (BDO) डॉ सतीश गौतम, एडवोकेट नदीम अहमद और एक्शन एड के जिला समन्वयक कमर इंतेखाब रहे।

स्टार परियोजना के जिला समन्वक राहुल कुमार ने बताया कि ‘स्टार परियोजना’ एक्शन ऐड के द्वारा उत्तर प्रदेश राज्य के 10 जिलों में चलाई जा रही है। जिसका उद्देश्य बाल श्रम एवं मानव तस्करी एवं बाल अधिकार जैसे महत्वपूर्ण मुद्दों पर समुदाय को जागरूक करने के साथ साथ ऑउट ऑफ स्कूल और ड्रॉपआउट बच्चों को शिक्षा की मुख्यधारा में शामिल करना है। एक्शन एड के जिला समन्वयक कमर इंतेखाब ने बताया कि हम अपने आसपास में 5 से 14 साल के स्कूल ने जाने वाले बच्चो को सरकारी स्कूलों से मुफ्त में शिक्षा दिला सकते हैं जिसमें गरीबी कोई बाधक नही है। अध्यापक, समुदाय और SMC के साथ समन्वय बनाकर हम अपने क्षेत्र में एक मॉडल स्कूल का निर्माण कर सकते है। केवल आपको जागरूक बनकर अभिभावकों से उनके बच्चो को स्कूल भेजने के लिए प्रेरित करना होगा।
एडवोकेट नदीम ने बच्चो के अधिकारों और बाल श्रमिकों को लेकर बने कानूनों पर अपनी बात रखी।
खंड विकास अधिकारी डॉ सतीश गौतम ने बाल श्रम की परिभाषा और बाल श्रम में बच्चें क्यों जाते है? इसके निदान और शासन की तरफ से किये जा रहे प्रयासों आदि मुद्दों पर प्रेरको के समक्ष अपने विचार रखे।

सामाजिक कार्यकर्ता अर्पित ने ज़िले में सामाजिक कुरूतियों से कैसे निपटा जाए इस पर प्रकाश डाला। स्टार प्रेरक सीदा हुसैन ने स्टार प्रोजेक्ट को ब्लॉक स्तर पर हर संभव मदद देने का वादा किया।
अंत मे राहुल कुमार ने सभी प्रतिभागियों को धन्यवाद देते हुए बताया कि राज्य और जिलों की सीमाओं से होने वाली मानव तस्करी को रोकना भी प्रोग्राम का मुख्य बिंदु है इसके लिए ग्राम पंचायत स्तर पर बाल सुरक्षा समिति का गठन भी किया जाएगा।